कौन थे भारतीय फिल्म जगत के जन्मदाता, पहली फिल्म बनाने में लग गए थे इतने महीने - RkNewsroom

Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

कौन थे भारतीय फिल्म जगत के जन्मदाता, पहली फिल्म बनाने में लग गए थे इतने महीने

आपने अक्सर सुना होगा दादासाहेब फालके अवॉर्ड के बारे में, और इस अवार्ड को पाकर हर कोई खुश हो जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं दादा साहब ...


आपने अक्सर सुना होगा दादासाहेब फालके अवॉर्ड के बारे में, और इस अवार्ड को पाकर हर कोई खुश हो जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं दादा साहब फालके कौन थे? ‌ अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं आखिर कौन तेरे दादा साहब फालके।

dadasaheb-phalke


दादासाहेब फालके को भारतीय फिल्म इंडस्ट्री का जन्मदाता कहा जाता है। इनका जन्म 30 अप्रैल 1870 सन में हुआ था, 1913 में इन्होंने पहली फुल लेंथ फीचर फिल्म बनाई थी "राजा हरिश्चंद्र"। इन्होंने अपने 19 साल के फिल्मी कैरियर में 95 फिल्में बनाई है, दादासाहेब फालके ना सिर्फ निर्देशक थे बल्कि एक फिल्म निर्माता और स्क्रीन राइटर भी थे।

dadasaheb-phalke


इनका असली नाम असली नाम धुंडिराज गोविंद फाल्के था। अपने कैरियर में इन्होंने पहली फिल्म "राजा हरिश्चंद्र" बनाई थी और यह फिल्म बनाने में उन्हें 6 महीने का वक्त लगा था।

dadasaheb-phalke


इनके जीवन में टर्निंग प्वाइंट तब आया जब इन्होंने "द लाइफ ऑफ क्रिस्ट फिल्म बनाई इस फिल्म को बनाने के लिए उन्होंने अपनी पत्नी से पैसे भी उधार लिया था। दादा साहब फाल्के ने 16 फरवरी सन 1944 में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था।